होम Mukh Samachar जानिए कब मनाई जाएगी मकर संक्रांति और क्या करें दान

जानिए कब मनाई जाएगी मकर संक्रांति और क्या करें दान

मकर संक्रांति इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। इस दिन लोग सुबह उठकर स्नान करतो हैं, उसके बाद सूर्य भगवान को नमस्कार करते हैं, और गरीबों को दान देते हैं।

शेयर करें

नई दिल्ली। मकर संक्रांति इस दिन सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है। इस दिन लोग सुबह उठकर स्नान करतो हैं, उसके बाद सूर्य भगवान को नमस्कार करते हैं, और गरीबों को दान देते हैं। कहा जाता है कि इस दिन दान-पुण्य करना बहुत अच्छा होता है। लेकिन इस बार मकर संक्रांति को लेकर एक मुश्किल पैदा हो गई है। मुश्किल यह कि, ज्यादातर हर बार मकर संक्रांति लोहरी के अगले दिन मनाई जाती है, लेकिन इस बार इसका शुभ दिन 15 जनवरी पढ़ रहा है। 14 जनवरी को सूर्य शाम को मकर राशि में प्रवेश कर रहा है। जिसके कारण 15 जनवरी का मकर संक्रांति शुभ मानी जा रही है।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली से बिहार जा रही इस ट्रेन में पड़ी डकैती, लाखों का माल के लेकर भागे बदमाश

इस बार की मकर संक्रांति पर ग्रहों का क्या विशेष संयोग होगा?

  • इस बार की मकर संक्रांति पर शुक्र और बृहस्पति का सम्बन्ध होगा।
  • साथ ही चन्द्रमा और सूर्य का केंद्रीय सम्बन्ध भी होगा।
  • शनि भी बृहस्पति की राशि में विद्यमान रहेंगे।
  • अगर इस दिन स्नान, दान और ध्यान किया जाय तो विशेष लाभ हो सकता है।
  • इस बार अगर विशेष प्रयोग किए जाएं तो कुंडली के दुर्योगों से निजात मिल सकती है।

इसे भी पढ़ें: सवर्ण आरक्षण को लेकर अमित शाह ने संसद में दिए इतने संकेत

सामान्य रूप से मकर संक्रांति को क्या करें?

  • प्रातःकाल स्नान करें, सूर्य को अर्घ्य दें।
  • श्रीमदभागवद के एक अध्याय का पाठ करें या गीता का पाठ करें।
  • नए अन्न, कम्बल, तिल और घी का दान करें।
  • भोजन में नए अन्न की खिचड़ी बनाएं।
  • भोजन भगवान को समर्पित करके प्रसाद रूप से ग्रहण करें।

इसे भी पढ़ें: नीतीश कुमार ने बिहार में हुए महागठबंधन को लेकर की ये बात

मकर संक्रांति पर दान के नियम और लाभ क्या हैं?

  • मकर संक्रांति पर किया हुआ दान अक्षय फलदायी होता है।
  • प्रातःकाल स्नान करके, सूर्य को जल दें।
  • फिर पूजा उपासना करें।
  • इसके बाद अन्न का, घी का, और वस्त्र का दान करें।
  • चावल, दाल, सब्जी, नमक और घी यानि खिचड़ी का दान सर्वोत्तम होता है।
  • इस दिन शनि देव के लिए प्रकाश का दान करना भी बहुत शुभ होता है।
Loading...

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहां दर्ज करें