होम Mukh Samachar 2019 लोकसभा चुनाव: ये है बिहार में महागठबंधन की सीटों का अंक...

2019 लोकसभा चुनाव: ये है बिहार में महागठबंधन की सीटों का अंक गणित!

2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर हलचल शुरू हो गई है। हर तरफ राजनीति का माहौल गरमाया हुआ है। कुछ ऐसा ही हाल बिहार की राजनीति का भी है।

शेयर करें

नई दिल्ली। 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर हलचल शुरू हो गई है। हर तरफ राजनीति का माहौल गरमाया हुआ है। कुछ ऐसा ही हाल बिहार की राजनीति का भी है। वहां इन दिनों महागठबंधन का हवा चल रही है। महागठबंधन की ये बैठक सीटों के बंटवारे के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। आइये जानते हैं कि इस बैठक में किसे कितनी सीटें मिलने के आसार बन रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: बिहार में हुई महागठबंधन की शुरूआत, साथ आए कांग्रेस आरजेडी-आरएलएसपी समेत 5 दल

बिहार में सीट बंटवारे का ये हो सकता है फॉर्मूला

बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीटें हैं। एनडीए से हाल में अलग हुए उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा को इनमें से 4-5 सीटें मिल सकती हैं। हालांकि, वह छह-सात सीटों की मांग कर रहे हैं। कांग्रेस को 8-12 सीटों पर संतोष करना पड़ सकता है। बिहार में राजद को सबसे ज्यादा 18-20 सीटें मिलने का अनुमान जताया जा रहा है। इसके अलावा जीतन राम मांझी और शरद यादव की पार्टी को भी 1-2 सीटें मिल सकती हैं। तेजस्वी यादव के अनुसार बैठक के बाद शाम तक सीटों को लेकर स्थिति स्पष्ट हो सकती है।

इसे भी पढ़ें: लोकसभा चुनावों में कम सीटें नहीं ,बल्कि इस मुद्दे के कारण उपेंद्र कुशवाह ने छोड़ी एनडीए

लोजपा ने भाजपा से मांगी सात सीटें

लोकसभा चुनाव-2018 में सीटों के बंटवारे में हो रही देरी पर एनडीए में शामिल लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) की नाराजगी बढ़ रही है। पार्टी ने भाजपा से लोकसभा चुनाव के लिए 31 दिसंबर तक सात सीटें देने की मांग रखी है। लोजपा प्रमुख रामविलास पासवान के बेटे चिराग ने हाल में ट्वीट किया था कि अगर समय रहते बात नहीं बनी तो नुकसान हो सकता है। इतना ही नहीं उन्होंने हाल में राहुल गांधी की तारीफ करते हुए कहा था कि उनमें सकारात्मक बदलाव आए हैं। उन्होंने अच्छे मुद्दों का चयन किया और हम (एनडीए) मंदिर और धर्म में उलझे रहे। उनके इस बयान को महागठबंधन की तरफ पार्टी के झुकाव के तौर पर देखा जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: आज ही निपटा लें बैंक के जरूरी काम, कल से 5 दिन के लिए बंद रहेंगे बैंक

मालूम हो कि बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से भाजपा और जदयू में आधी-आधी सीटों पर सहमति बनी है। इस पर भी लोजपा आपत्ति जता चुकी है। पार्टी नेता पशुपति ने कहा है कि भाजपा-जदयू ने आधी-आधी सीटों पर समझौता कर लिया और लोजपा को पूछा तक नहीं। अगर आप (भाजपा) हमसे बात नहीं करेंगे तो हम पीछे-पीछे क्यों दौड़ेंगे?

सात राज्यों की 255 सीटों पर महागठबंधन का खाका

लोकसभा चुनाव 2019 में भाजपा को शिकस्त देने के लिए महगठबंधन की कोशिशें जोरशोर से चल रही हैं। सात राज्यों की 255 सीटों पर चुनाव पूर्व महगठबंधन का खाका लगभग तैयार हो चुका है। हर राज्य की जरूरत के मुताबिक सीटों के बंटवारे का फॉर्मूला भी अलग-अलग बनाया गया है। इनमें उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, कर्नाटक, झारखंड, तमिलनाडु और जम्मू-कश्मीर राज्य शामिल हैं। इन राज्यों में लोकसभा की कुल संख्या के आधे से कुछ सीटें ही कम हैं।

वर्ष 2014 लोकसभा चुनाव में भाजपा ने इन राज्यों में लगभग 150 सीटों पर जीत हासिल की थी। तमिलनाडु में भाजपा को केवल एक ही सीट मिली थी। शेष 39 सीटों में से 37 सीट AIADMK को मिली थी, जो भाजपा की सहयोगी है। सूत्रों के अनुसार महागठबंधन, लोकसभा चुनाव कार्यक्रम घोषित होने के बाद इन राज्यों में सीटों की घोषणा करेगा।

Loading...

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहां दर्ज करें