होम Mukh Samachar राष्ट्रपति मून ने दिए संकेत, भारत के साथ चाहते हैं अमेरिका, जापान...

राष्ट्रपति मून ने दिए संकेत, भारत के साथ चाहते हैं अमेरिका, जापान जैसा मजबूत रिश्ता

भारत की चार दिवसीय यात्रा पर आये दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई-इन ने जता दिया है कि उनके देश के लिए भारत के साथ द्विपक्षीय रिश्ता कितना अहम है।

शेयर करें

नई दिल्ली। भारत की चार दिवसीय यात्रा पर आये दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई-इन ने जता दिया है कि उनके देश के लिए भारत के साथ द्विपक्षीय रिश्ता कितना अहम है। यात्रा के दूसरे दिन सोमवार को जहां उन्होंने पीएम मोदी के साथ काफी समय गुजारा वहीं उन्होंने यह जताने में कोई देरी नहीं की कि दक्षिण कोरिया भारत के साथ वैसा ही रिश्ता बनाना चाहता है जैसा चीन, जापान, रूस और अमेरिका के साथ उसका रिश्ता है।

इसे भी पढ़ें: मुंबई: खस्ताहाल सड़क ने ली मासूम की जान, पढ़कर रो पड़ेंगे आप

पीएम मोदी के साथ आज होगी द्विपक्षीय वार्ता पर चर्चा

माना जाता है कि दक्षिण कोरिया की कूटनीति में इन चार देशों को सबसे ज्यादा महत्व दिया जाता है। राष्ट्रपति मून मंगलवार को जब पीएम नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता के लिए आमने-सामने होंगे तो इन बातों का खास तौर पर महत्व होगा।

इसे भी पढ़ें: बिहार में बनेगा डबल डेकर फ्लाईओवर, सीएम रखेंगे आधारशिला

यहां भारत कोरिया बिजनेस काउंसिल की बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति मून ने कहा कि दक्षिण कोरिया भारत के साथ वैसा ही रिश्ता चाहता है जैसा कि उसके कोरियाई पेनिन्सुला के आसपास की अन्य शक्तियों के साथ है। उनके कहने का मतलब यह है कि दक्षिण कोरिया जिस तरह से अभी चीन, अमेरिका, रूस और जापान के साथ अपने रिश्ते को महत्व देता है वैसा ही वह भारत के साथ अपने द्विपक्षीय रिश्ते को भी देता है।

इसे भी पढ़ें: मायानगरी में आफत की बारिश, रेल यातायात ठप्प, सड़कों पर फंसे वाहन

हालांकि उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि इस रिश्ते में कूटनीति के साथ ही आर्थिक रिश्तों की खास अहमियत होगी। राष्ट्रपति मून ने कहा कि भारत के साथ द्विपक्षीय कारोबार को लेकर एक विशेष समझौता किये जाने की बेहद जरुरत है। इस संबंध में दोनो देशों के बीच पहले से चल रही वार्ता का उन्होंने जल्दी से संपन्न करने का आह्वान किया।

इसे भी पढ़ें: हंटर वाला बॉस: छुट्टी लेने पर कर्मचारी पर बरसाए 10 मिनट में 100 हंटर

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहां दर्ज करें