होम Editorial आज है नवरात्र का पहला दिन, इस तरह करें मां शैलपुत्री की...

आज है नवरात्र का पहला दिन, इस तरह करें मां शैलपुत्री की पूजा-आराधना

शेयर करें

नई दिल्ली। “ऊँ सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके। शरण्ये त्रयम्बके गौरी नारायणी नमोस्तुते।।” आज से नवरात्री का आरंभ हो गया है। माता के दर्शन करने के लिए भक्तों की तांता मंदिरों में लगना शुरू हो गया है। हर तरफ ‘जय माता दी’ के जयकारे सुनाई दे रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: नवरात्रि: इस समय करें कलश स्थापना, यह है पूजा का उत्तम मुहूर्त

आज मां के पहले रूप शैलपुत्री की पूजा की होती है। मां शैलपुत्री को पर्वतराज हिमालय की पुत्री माना जाता है। इनका वाहन वृषभ है इसलिए इनको वृषारूढ़ा और उमा के नाम से भी जाना जाता है। मां शैलपुत्री की उत्पत्ति शैल से हुई और मां के दाएं हाथ में त्रिशुल धारण कर रखा है, और उनके बाएं हाथ में कमल शोभायमान है।

इसे भी पढ़ें: बिहार में प्रसिद्ध है शिव-पार्वती का यह मंदिर, जानें क्या है खास

मां दुर्गा का किया जाता है आह्वान 

इस दिन कलश स्‍थापना के साथ मां दुर्गा का आह्वान किया जाता है पुराणों में कलश को भगवान गणेश का स्‍वरूप बताया गया है इसलिए कलश की स्थापना पहले ही दिन कर दी जाती है।

मां को पसंद है यह चीजें

मां को सफेद वस्‍त्र और सफेद फूल चढ़ाएं और सफेद बर्फी का भोग। इससे मां प्रसन्न होती है और आपकी हर मनोकामना पूर्ण करती हैं। कुंवारी कन्या अगर उन्हें भोग लगाती हैं, तो उन्हें मनचाहा वर मिलता है।
Loading...

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहां दर्ज करें