Home Blog Page 43

रैली में जा रहे RJD कार्यकर्ता सड़क हादसे के शिकार, 3 मरे कई घायल

सड़क हादसा

मुज्जफरपुर: 27 को पटना के गाँधी मैदान में होने वाली राजद की रैली में जा रही RJD  समर्थकों से भरी स्कॉर्पियो शनिवार देर शाम डुमरा थाना क्षेत्र के लगमा स्थित कोल्ड स्टोरेज के समीप एनएच 77 पर 30 फुट गहरी खाई में पलट गई। इससे तीन समर्थकों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। चार लोग गंभीर रुप से घायल हो गए। मृतकों की पहचान रीगा थाना क्षेत्र कटहरा गांव निवासी टुनटुन साह (48), छोटे राय (30) व सुनील राय (35) के रूप में की गयी है। घायलों में संजय कुमार राय (35), अशोक राय ( 30) व राजन कुमार (18) शामिल हैं। सभी घायलों को एसकेएमसीएच, मुजफ्फरपुर रेफर कर दिया गया है।

घटना के बाद स्कॉर्पियो चालक सत्येन्द्र कुमार फरार हो गया है। इस बात की पुष्टि डुमरा थानाध्यक्ष छोटन कुमार ने की है। थानाध्यक्ष ने बताया कि सभी राजद समर्थक रीगा थाना क्षेत्र के कटहरा गांव से स्कॉर्पियो में सवार होकर रविवार को पटना में आयोजित राजद की रैली में शामिल होने जा रहे थे। इसी दौरान लगमा कोल्ड स्टोरेज के समीप एनएच 77 पर स्कॉर्पियो अनियंत्रित होकर सड़क किनारे 30 फुट गहरी खाई में पलट गई।

मौके पर गश्ती कर रहे डुमरा थाना पुलिस के अधिकारियों व जवानों ने स्थानीय लोगों की मदद से मृतकों व घायलों को गाड़ी से बाहर निकाल सदर अस्पताल पहुंचाया, जहां डाक्टरों ने तीन को मृत घोषित कर दिया। तीन लोगों को प्राथमिक उपचार के बाद रेफर कर दिया गया। उन्होंने बताया कि घटना के बाद से चालक फरार है। उसकी खोजबीन की जा रही है। इधर, सीतामढ़ी के राजद विधायक सुनील कुमार कुशवाहा ने समर्थकों की मौत पर शोक जताया है।

बिहार : बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए पीएम मोदी ने दिये 500 करोड़ रुपये

बाढ़

बिहार में आए भयानक जलप्रलय ने लोगों में दहशत भर दिया है कई जिलों में जन-जीवन को अस्त –व्यस्त हो चुका है।इस आपदा में कई लोगों की जाने गई तो कइयों का आशियाना ही छीन गया। वही अब राज्य सरकार और केंद्र की सरकार बाढ़ पीड़ितों को हर मदद पहुंचाने की कवायद में जुट गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एरियर सर्वे किया और पूर्णिया में अधिकारियों के साथ मीटिंग की। बैठक के बाद पीएम मोदी ने बाढ़ की गंभीरता को देखते हुए बिहार को तत्काल 500 करोड़ की राशि देने का ऐलान किया साथ ही उन्होने कहा की जल्द ही बाढ़ का आंकलन करने केंद्र की टीम बिहार आएगी । बिहार के बाढ़ पीड़ितो को हर संभव सहायता दी जाएगी। वही प्रधानमंत्री राहत कोष से बाढ़ में मारे गए लोगों के परिजनों को 2- 2लाख एवं घायलों को 50 हजार रुपये देने का ऐलान किया गया है।

HC से हरियाणा सरकार को फटकार, राजनीतिक फायदे के लिए जलने दिया शहर

By Google

चंडीगढ़ : डेरा सच्चा सौदा के मुखिया गुरमीत राम रहीम सिंह को अदालत की ओर से दोषी ठहराए जाने के बाद मचाए गए उपद्रव पर आज पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट की फुलबेंच सुनवाई हुई। इस दौरान पुलिस ने हाईकोर्ट को अब तक की रिपोर्ट सौंपी। हाईकोर्ट ने कहा कि ऐसा लगता है कि सरकार ने सरेंडर कर दिया। कोर्ट ने हरियाणा सरकार को कड़ी फटकार लगाते हुए कहा कि राजनीतिक फायदे के लिए शहर जलने दिया। हाईकोर्ट ने पूछा कि किन अफसरों ने गलत सूचना दी थी, उनके नाम बताएं जाएं। हाईकोर्ट ने पूछा कि राम रहीम के काफिले में  5 से ज्यादा गाड़ियां क्यों आईं?

By Google

3 सदस्यों की खंड पीठ ने कहा कि अब ना कि जो नुकसान हुआ है बल्कि एडिशनल पुलिस फोर्स के होने से टैक्सपेयर और देश का जो नुकसान हुआ, उसकी भरपाई वो करेगा जिसने नुकसान किया है। हाईकोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा  से उनकी संपत्ति की सूची मांगी और कहा कि अगले आदेश तक, इसे कहीं भी बेचा नहीं जाएगा।  इस मामले की अगली सुनवाई 29 अगस्त (मंगलवार) को फिर से होगी।

By google

बता दें कि 2 साध्वियों से बलात्कार करने के मामले में दोषी करार दिए जाने के बाद उसके समर्थकों ने हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली समेत दूसरे पड़ोसी राज्यों में भारी उत्पात मचाया। अब तक 30 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, इसके साथ ही सरकारी और निजी समेत करोड़ों की संपत्ति का नुकसान हो चुका है।  शुक्रवार को पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने बड़ा फैसला देते हुए डेरा प्रमुख राम रहीम की संपत्ति बेचकर नुकसान की भरपाई का आदेश दिया गया है। हिंसा के चलते हुए नुकसान की भरपाई राम रहीम की संपत्ति बेचकर की जाएगी।

By Google

राम रहीम पर आए फैसले के बाद डेरा समर्थकों ने पंजाब और हरियाणा के कई इलाकों में हिंसा फैलाई है। इस हिंसा से करोड़ों की सरकारी संपत्ती को नुकसान पंहुचाया गया है। कोर्ट ने दोनों राज्यों को आदेश दिए है कि जल्द से जल्द बाबा की पूरी संपत्ति को जब्त की जाए, जिससे सारे नुकसान की भरपाई हो सके। गुरुवार को हाईकोर्ट ने पंजाब और हरियाणा सरकार को फटकार लगाते हुए कहा पूछा था कि जब धारा 144 पर लगी थी तब बाबा के समर्थक वहां पहुंच कैसे गए? साथ ही कोर्ट ने वरिष्ठ सरकारी कर्मचारियों को विशेष सुविधा मुहैया करवाने की भी अपील की है। इससे पहले भी हाईकोर्ट ने सरकार को कहा था कि बाहर से आ रहे लोगों को सरकार क्यों नहीं रोक पाई।

जमशेदपुर: सरकारी अस्पताल बना बच्चों का कब्रगाह, अब तक 52 की मौत

पिछले दिनों गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की कमी से हुई बच्चों  की मौत का जख्म अभी भरा भी नहीं  कि झारखंड के जमशेदपुर से आई  52 बच्चों की मौत की खबर ने जख्म को भरने से पहले हीं कुरेद दिया है।

दरअसल, पिछले 30 दिनों में जमशेदपुर के महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज एण्ड हॉस्पीटल (एमजीएम) के शिशु वार्ड में  लगभग 52 बच्चों की मौत हो चुकी  है।

अस्पताल प्रशासन  के मुताबिक़ इन मौतों की वजह कुपोषण है । इधर सोशल मीडिया में आई इस खबर और बच्चों की मौत पर लोगों का कहना है कि आखिर कब खत्म होगा अगस्त। बता दें कि पिछलो दिनों गोरखपुर हादसे के बाद विगत कुछ साल के आंकड़े बताते हुए यूपी के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा था कि इस समय हुई मौत अस्वभाविक नहीं हैं।

गोरखपुर और एमजीएम अस्पताल में बच्चों की मौत पर सरकारी स्वास्थ्य तंत्र भले हीं सफाई दे रहे हैं लेकिन संवेदनहीनता के शिखर पर बैठे तमाम अधिकारी ऐसी परिस्थिति के जिम्मेदार हैं। सरकारों को समझना पड़ेगा कि जवाबदेही तय करने की बात कह कर मामले की जांच और कठोर कार्रवाई के सरकारी बयानों से मासूम मृतकों को जीवन नहीं मिलता।

 

जारी है बिहार में बाढ़ की आड़ में शराब का कारोबार

दरभंगा: बिहार इन दिनों बाढ़ का कहर झेल रहा है। कई जिले बाढ़ की चपेट में हैं। अब तक जान-माल की भारी क्षति हुई है। लेकिन इन सब के बीच एक चौकाने वाली खबर आ रही है। दरअसल बाढ़ग्रस्त इन जिलों में हाहाकार के बीच शराब तस्करों जोरों पर है और ये सब नेपाल से लगे बिहार के जिलों में धड़ल्ले से चल रहा है। बता दें ये सभी वो ज़िलों हैं जिनमे बाढ़ ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई है।

शासन प्रशासन बाढ़ राहत के काम में जुटा है और सैलाब की आड़ में शराब तस्कर जमकर डुबकी लगा रहे हैं। शराब तस्करी का एक ऐसा ही मामला दरभंगा में सामने आया है।

बिहार के दरभंगा जिले में पुलिस को लगातार ख़बरें मिल रही थी कि नेपाल से बाढ़ के पानी का फ़ायदा उठाकर तस्कर नेपाल सीमा को आसानी से पार कर मधुबनी पहुंच जाते हैं। फिर गाड़ी में शराब भर कर दरभंगा शहर के अलग-अलग इलाकों में सप्लाई कर मोटी कमाई करते हैं।

File Photo

इसी सूचना के आधार पर दरभंगा पुलिस ने अपना जाल फैलाया और केवटी थाने के पास बड़े ही नाटकीय अंदाज़ में इन शराब तस्करों को पुलिस ने धर दबोचा। तस्कर उस वक्त एक गाड़ी में शराब लादकर लेजा रहे थे। पुलिस ने 1650 देशी शराब की बोतलों के साथ चार तस्करों को गिरफ्तार किया है।

बताते चलें कि बिहार राज्य में शराब पर पूर्ण प्रतिबंध है। शराब के खिलाफ अन्य जिलों की तरह ही दरभंगा पुलिस भी एक ख़ास अभियान चला रही है। इस अभियान की निगरानी ज़िले के एसएसपी खुद करते हैं।

Related Articles