SHARE

पटना : बिहार में इन दिनों दहेज मुक्त शादी के अभियान को जोर शोर से प्रचारित किया जा रहा है। स्वयं राज्य के मुखिया नीतीश कुमार शराबबंदी कानून के बाद अब बाल विवाह और बिना दहेज की शादी के लिए लोगों को जागरूक करने का प्रयास विभिन्न मंचों से कर रहे हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि दहेज लेने व देने वाले परिवार का बहिष्कार कर उनकी शादी में न शरीक हो।अब इसी कड़ी में राज्य के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी भी एक बड़ी नज़ीर पेश कर रहे हैं।

जी हां, सुशील मोदी ने कहा है कि उनके बेटे की शादी दहेज मुक्त और एक बेहद ही सादे समारोह में होगी। राज्य के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने अपने बेटे की शादी में दहेज लेने से मना कर दिया है। बिहार भाजपा के कद्दावर नेता सुशील मोदी के बड़े बेटे उत्कर्ष की शादी 3 दिसंबर को है। शादी के लिए लोगों को निमंत्रण भी दिए जा रहे है लेकिन शादी के जो कार्ड भेजे जा रहे हैं,उनमें भी प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया की झलक दिखाई दे रही है। निमंत्रण कार्ड लोगों को व्हाट्सएप और ई-मेल के द्वारा भेजे जा रहे हैं।

यह भी पढ़ें-बिहार: अब सातवीं-आठवीं के बच्चे सीखेंगे आपदा प्रबंधन के गुर

गौरतलब है कि सुशील मोदी के बड़े बेटे उत्कर्ष अभी बैंगलुरू में एक मल्टी नेशनल कंपनी में काम करते हैं। उनकी शादी कोलकाता की चार्टर्ड अकाउंटेंट यामिनी से तय हुई है। दोनों की शादी आने वाले तीन दिसंबर को पटना के शाखा मैदान राजेंद्र नगर में होनी है। शादी की खास बात यह है कि दिन के उजाले में ही शादी की सारी रस्में पूरी की जाएंगी। सुशील मोदी के बेटे की शादी में न तो बैंड,बाजा होगा और न ही कोई बारात निकाली जाएगी। सब कुछ साधारण तरीके से किया जायेगा।

यह भी पढ़ें-नीतीश कुमार ने कहा, निजी क्षेत्र की नौकरियों में आरक्षण पर हो राष्ट्रीय बहस

खास बात ये है कि शादी में शरीक होने वाले आगंतुकों को गिफ्ट लाने से भी मना किया गया है। सुशील मोदी के बेटे की होने वाली शादी बेहद चर्चे में है। बिहार में दहेज के खिलाफ राज्य सरकार के मौजूदा अभियान को बढ़ावा देने वाली इस शादी में बीजेपी के कई दिग्गज नेताओं के आने की भी उम्मीद है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here