SHARE

जदयू के बागी नेता शरद यादव व उनके गुट ने तय किया है कि अब वे ऑटो रिक्शा की सवारी करेंगे। चुनाव आयोग से जदयू के चुनाव चिन्ह ‘तीर’ पर दावेदारी खारिज होने के बाद शरद यादव गुट ने तय किया कि गुजरात चुनाव में ‘ऑटो रिक्शा’ चुनाव चिन्ह पर चुनाव लड़ा जायेगा।
गौरतलब है कि गुजरात के जदयू विधायक छोटू भाई बसावा भी शरद गुट के ही नेता हैं और वे भारतीय ट्राइबल पार्टी का चुनाव चिन्ह ‘ऑटो रिक्शा’ पर चुनाव लड़ते हैं। बताते चले कि पिछले दिनों गुजरात के राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस नेता अहमद पटेल को जिताने में जदयू विधायक छोटू भाई बसावा ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। इस बार के विधानसभा चुनाव में उनकी पार्टी ने कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला किया है। शरद यादव के अनुसार उनकी पार्टी 8-10 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी।

यह भी पढ़ें-इस टेबल टॉक से आप क्या समझे…?

दरअसल बिहार में महागठबंधन टूटने के बाद शरद यादव खुलकर नीतीश कुमार के खिलाफ खड़े हो गए थे, शुरू में तो शरद को मनाने की कोशिशें की गईं, लेकिन लालू की महारैली में शामिल होकर शरद ने अपना इरादा जता दिया। इसके बाद नीतीश कुमार और शरद यादव के बीच तल्खियां और बढ़ गईं। बात यहां तक पहुंच गई कि दोनों पक्ष जेडीयू के चुनाव चिन्ह तीर पर अपना – अपना दावा पेश करते हुए चुनाव आयोग तक पहुंच गए,जिसमें नीतीश कुमार की जीत हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here