SHARE

महागठबंधन से अलग BJP के साथ मिलकर बिहार में नयी सरकार के गठन के फैसले के बाद से ही शरद यादव ने नीतीश के खिलाफ राष्ट्रव्यापी मोर्चा खोल दिया हैं। इसी कड़ी में जदयू के शरद खेमे ने नीतीश कुमार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटाते हुए गुजरात से विधायक छोटू भाई वसावा को जदयू का कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त कर दिया है। यह फैसला दिल्लीि के कांस्टी च्यूनशन क्लब में जदयू की कार्यकारिणी की बैठक में किया गया।

इस बैठक में 19 राज्यों के प्रदेश अध्यक्षों ने भाग लिया था। पार्टी के उपाध्यक्ष के राजशेखरन की अध्यक्षता में हुई इस अहम बैठक में नीतीश कुमार खेमे द्वारा महागठबंधन तोड़ कर भाजपा के साथ गठजोड़ करने सहित अन्य फैसलों को भी रद्द कर दिया गया। बैठक में शरद यादव के अलावा, पूर्व मंत्री रमई राम, राज्यसभा सदस्य अली अनवर, पूर्व सांसद अर्जुन राय, पूर्व विधान पार्षद विजय वर्मा, पूर्व विधायक परवीन अमानुल्ला, सरोज बच्चन और उदय मांझी भी मौजूद थे।

जदयू नेता अरुण श्रीवास्तव ने बताया कि कार्यकारिणी के फैसलों पर मंजूरी के लिये आगामी 8 अक्टूबर को दिल्ली में जदयू की राष्रीताय परिषद की बैठक बुलायी गयी है। नीतीश कुमार सहित अन्य नेताओं के फैसलों को अनुशासनहीनता के दायरे में लाने के बारे में समिति की सिफारिशों पर अमल का फैसला राष्ट्रीय परिषद की बैठक में किया जायेगा। उन्होंने बताया कि कार्यकारिणी में पारित एक अन्य प्रस्ताव में संगठन की चुनाव प्रक्रिया अगले छह महीने में पूरा करने का फैसला किया गया। इसके लिये कार्यकारी अध्यक्ष वसावा से अगले साल मार्च तक संगठनात्मक चुनाव संपन्न कराने को कहा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here