SHARE

पटना: इन दिनों प्रदेश के कई हिस्से भीषण बाढ़ की चपेट हैं। बाढ़ की वजह से उन इलाकों में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। लेकिन प्रदेश की राजनितिक गलियारों में इस पर चिंतन के बजाय एक-दुसरे पर बयानबाजी का दौर चल रहा है। पिछले दिन बिहार के जल संसाधन मंत्री ललन सिंह ने कहा कि 19 जिलों की 1 करोड़ 71 लाख की आबादी जिस बाढ़ से प्रभावित हुई है, उसमें सबसे बड़ी भूमिका चूहों की है। उन्होंने कहा कि नदी के तटबंधों को तो इन्होंने ही तोड़ दिया है।

बांध के भीतर भारी संख्या में चूहे अपना आशियाना बना लेते हैं और उसमें छेद कर पूरा का पूरा बांध ही कुतर डालते हैं। अब जल संसाधन मंत्री के इस बयान के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) हमलावर हो गया है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव ने ललन सिंह के इस विवादित बयान पर तंज कसते हुए एक के बाद एक कई ट्वीट किए हैं।

लालू प्रसाद

अपने पहले ट्वीट में लालू यादव ने  लिखा है  कि बाढ़ की जवाबदेही चूहों की है, नीतीश की थोड़े है।  नीतीश तो नैतिकता के नशे में मस्त और अंतरात्मा से वार्तालाप में व्यस्त हैं। ‘जय हो चूहा सरकार की’

लालू

लालू यादव अपने दुसरे  ट्वीट में लिखते है ‘हज़ारों टन शराब गायब- चूहे जिम्मेदार बाढ़ में हज़ारों लोग मरे- चूहे जिम्मेदार मानो ये चूहे ना हुए नीतीश के सरकारी बलि के बकरे हो गए!’

वहीं राष्ट्रीय जनता दल के वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने इसी मुद्दे पर बिहार सरकार की निंदा करते हुए कहा कि अगर बिहार में चूहे इतने शक्तिशाली हैं तो इन चूहों को ही सत्ता की कमान क्यों न दे दी जाए?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here